Monday, 30 June 2014

मिनिस्टर को सांप ने डसा, किसने देखा!

- सांपनाथ-नागनाथ संघ ने डसने संबंधी मंत्री के आरोपों को मनगढ़ंत बताया।

- कहा- नेताओं और सर्पों के बीच दूरी बढ़ाने के लिए रची जा रही है साजिश, सीबीआई जांच की मांग।

 

जयजीत अकलेचा/ Jayjeet Aklecha

सांपनाथ-नागनाथ संघ के अध्यक्ष डॉ कोबरानाथ
भोपाल।
'मिनिस्टर को सांप ने डसा, किसने देखा!' यह सवाल किसी और ने नहीं, सांपनाथ-नागनाथ संघ ने उठाया है। वह मीडिया में प्रकाशित उन खबरों पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहा था जिनमें मप्र के एक मंत्री को सांप द्वारा डसने की बात सामने आई है। सांपनाथ-नागनाथ संघ ने इस खबर का खंडन करते हुए कहा है कि यह नेताओं और सर्पों के बीच दूरी पैदा करने की एक साजिश है। मंत्री इसी साजिश का शिकार होकर हम पर ऐसे मनगढ़ंत आरोप लगा रहे हैं।
मप्र के एक मंत्री ने भोपाल में आरोप लगाया था कि शनिवार-रविवार की देर रात को उनके बंगले में किसी सर्प ने उन्हें डस लिया। हालांकि उनके बंगले से बाद में कोई भी सांप जिंदा या मुर्दा बरामद नहीं किया गया। सांपनाथ-नागनाथ संघ के अध्यक्ष डॉ कोबरानाथ ने सोमवार को एक निजी टीवी चैनल के साथ बातचीत में कहा कि नेता प्रजाति के लोगों के साथ हमारे अच्छे संबंध रहे हैं। जहां भी हमें मौका मिला, हमने उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर देश की सेवा की। यहां तक कि हमने उन्हें अपनी उपाधि तक देने में कोताही नहीं की। इसके बावजूद एक नेता हम पर मनगढ़ंत आरोप लगा रहा है। उन्होंने आशंका जताई कि मंत्री किसी के बहकावे में आकर ऐसे तुच्छ आरोप लगा रहे हैं। उन्होंने सीबीआई से इस पूरे मामले की जांच करवाने की मांग की है।
आखिर निशान किसके हैं?
मंत्री ने अपने अाराेपों के सबूत के तौर पर कहा है कि उनके दाहिने हाथ की अंगुली में दांतों के निशान बने हुए हैं जो साबित करता है कि उन्हें किसी न किसी सांप ने डसा है। इस पर एक सर्प ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि मप्र में इस समय व्यापम घोटाला हावी है। जगह-जगह उसके तार बिखरे हुए हैं जो कई लोगों को चुभ रहे हैं। हो सकता है यह निशान ऐसे ही किसी तार से हुआ हो और मंत्रीजी ने किसी सांप पर आरोप मढ़ दिया हो। हालांकि इसका खुलासा तो जांच से ही हो पाएगा।

No comments:

Post a Comment